देवघर : बारह घंटे के अंदर पुलिस ने किया सब्जी मंडी लुट कांड का उद्भेदन, लुटी हुई राशि बरामद

17th May 2018
मीडिया को जानकारी देते एसपी नरेन्द्र कुमार एवं पीछे हैं गिरफ्तार अपराधी

देवघर पुलिस की तत्परता से महज 12 घंटे के भीतर सब्जी मंडी लुट कांड के  मामले को सुलझा लिया गया है। अपराधी पुलिस के गिरफ्त में है और लुट की गई राशि भी पुलिस ने बरामद कर लिया है। आपको बता दें कि बुधवार को मीना बाजार में सब्जी विक्रेता के कान पर पिस्तौल रखकर लगभग पांच लाख रूपये लुट लिया गया था। इस घटना के बाद देवघर के व्यवसायी सकते में आ गये थे। पुलिस ने मामले को गंभीरता से लेते हुए मामले की तह तक जाकर घटना की छानबीन की और मामले का पर्दाफाश किया। गुरूवार को देवघर के एसपी नरेन्द्र कुमार ने प्रेस क्रांफ्रेस कर पूरी घटना की जानकारी दी। पुलिस कप्तान ने बताया कि बुधवार की घटना के संदर्भ में कांड संख्या 300/18 पर धारा 302 एवं 27 आर्म एक्ट के तहत एसआईटी गठित कर जांच का आदेश दिया गया था। महज 12 घंटे के भीतर पुलिस ने घटना में संलिप्त अपराधियों को गिरफ्तार कर लिया और लुटी गई राशि को जटाही मोड़ स्थित टेडीवियर फ्रैक्ट्री से बरामद कर लिया गया है।

पुलिस अधीक्षक नरेन्द्र कुमार के मुताबिक छापेमारी के दौरान मामले में संलिप्त सनबेल बाजार निवासी करण राऊत को गिरफ्तार कर उसका बयान लिया गया, राऊत के दिये बयान के आधार पर पुलिस ने टेडीवियर कारखाने से साढ़े चार लाख रूपये बरामत कर लिया गया है। पुलिस अधीक्षक नरेन्द्र ने कहा कि मीना बाजार स्थित सरिता होटल गली का रहने वाला कुख्यात अपराधी सागर राऊत, जून पोखर के गौरव नरौने और रवि केसरी के द्वारा एक सप्ताह पूर्व ही सुनियोजित तरीके से घटना को अंजाम देने की तैयारी कर ली गई थी। उन्होंने बताया कि घटना में शामिल शेष सभी अपराधियों को बहुत जल्द गिरफ्तार कर लिया जायेगा। एसआईटी टीम में एसआईटी टीम में नगर थाना प्रभारी विनोद कुमार, दिलीप कुमार दास, रामानुज सिंह, श्रीकांत बाजपेयी, प्रमोद कुमार सिंह, विश्वजीत कुमार, कृष्णा पूर्ति, रतन कुमार ओझा, भगवान यादव, अखिल कुमार पाण्डेय, उमेश यादव मुख्य रूप से शामिल थे।