बाबा मंदिर में ऑनलाइन एंट्री पास की सुविधा सोमवार से : उपायुक्त

रमेश सिंह 30th August 2020
Facility of online entry pass in Baba temple will start from Monday: Deputy Commissioner, deoghar
उपायुक्त देवघर

बिना पास के मंदिर में प्रवेश की नही होगी अनुमति
देवघर(30 अगस्त)। उपायुक्त सह जिला दंडाधिकारी कमलेश्वर प्रसाद सिंह द्वारा जानकारी दी गई है कि माननीय उच्च न्यायालय और राज्य सरकार के निर्देशानुसार बाबा बैद्यनाथ मंदिर कल दिनांक 31.08.2020 से झारखंड राज्य के आम श्रद्धालुओं की सुविधा हेतु ऑनलाइन एंट्री पास की सुविधा शुरू कर दी गई है। इसके लिए http://jharkhanddarshan.nic.in/ पर लॉगिन कर अपना पंजीकरण करना होगा। जिसके पश्चात मिलने वाले पास से बाबा बैद्यनाथ का दर्शन श्रद्धालु कर सकेंगे। साथ ही एक व्यक्ति चार लोगों के लिए अधिकतम ई-पास निर्गत करा सकता है। इसके अलावे दिए गए समय के आधे घंटे पहले श्रद्धालुओं को अपना निर्गत पास लेकर मानसिंघी फुट ओवर ब्रिज के समीप पहुँचना होगा, ताकि स्वास्थ्य संबंधी मानको का जांच करते हुए श्रद्धालुओं को ओवर ब्रिज के माध्यम से मंदिर में प्रवेश की अनुमति दी जाएगी। वही कोरोना संक्रमण के बढ़ते प्रभाव को देखते हुए वर्तमान में सिर्फ ई-पास निर्गत कराने वाले श्रद्धालुओं को बाबा बैद्यनाथ के दर्शन की अनुमति होगी।
वर्तमान में अधिकतम 4 घंटे के लिए झारखंड के आम श्रद्धालुओं के लिए लिए खोला जा रहा है, ऐसे में उक्त अवधि में श्रद्धालु बाबा बैद्यनाथ का दर्शन कर सकते हैं। इसके अलावे सामाजिक दूरी का अनुपालन सुनिश्चित करने के उद्देश्य से प्रति घंटे अधिकतम 50 की संख्या में श्रद्धालुओं को दर्शन हेतु अनुमति दी जा रही है। साथ ही बाबा मंदिर आने वाले श्रद्धालुओं को मास्क, सैनिटाइजर के उपयोग एवं केंद्र सरकार के दिशा निर्देश के अनुरूप अन्य स्वास्थ्य संबंधी मानकों का अनुपालन करते हुए मंदिर में प्रवेश की अनुमति दी जाएगी।
इसके अलावे कोविड-19 के खतरे को देखते हुए बुजुर्ग, बीमार व्यक्ति, बच्चें, स्वास्थ्य लाभ ले रही महिलाओं से अपील करते हुए उपायुक्त श्री कमलेश्वर प्रसाद सिंह ने कहा है कि वर्तमान में समय की नजाकत को देखते हुए अभी बाबा मंदिर आने और दर्शन करने से बचें।
ज्ञात हो कि ई पास की सुविधा को लेकर माननीय उच्च न्यायालय द्वारा कहा गया था कि सीमित संख्या में और सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का सख्ती से पालन कराते हुए लोगों को मंदिर में दर्शन करने की इजाजत दी जा सकती है।