देवघर : पुणे से आने वाले यात्रियों की हुई थर्मल स्कैनिंग, 14 दिन तक अकेले रहने की हिदायत

रमेश सिंह 22nd March 2020
पुणे से आये यात्रियों के जांच में प्रशासन
पुणे से आये यात्रियों की जांच में जुटा प्रशासन

देवघर। उपायुक्त नैंसी सहाय के निर्देशानुसार  अनुमंडल पदाधिकारी, देवघर विशाल सागर की अध्यक्षता में रविवार को पुणे से आये यात्रियों की स्वास्थ्य जांच की गई। पुणे से आ रहे इन यात्रियों की जसीडीह रेलवे स्टेशन में उतरने की सूचना मिलने पर जिला सर्विलेंस टीम द्वारा त्वरित कार्य करते हुए, सभी यात्रियों को डढवा पुल के समीप रोक कर अमृतसर और पुणे से आये सभी यात्रियों की थर्मल स्कैनर से जाँच की गयी। इस मौके पर अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी, देवघर विकासचंद्र श्रीवास्तव सहित सिविल सर्जन डॉ० विजय कुमार व उनकी पूरी मेडिकल टीम उपस्थित थे। इस दौरान पुणे से आने वाले सभी लोगों का पूरी तरह से स्वास्थ्य जांच कर उनके यात्रा से संबंधित पूरा ब्यौरा व उनका बॉयोडाटा लिया गया एवं जांच की अन्य प्रक्रियाएं भी पूरी की गयी। जांच के क्रम में इन सभी यात्रियों में कोरोना के किसी भी प्रकार के लक्षण नही पाये गये, जिसके पश्चात सभी आवश्यक फॉर्मेलिटीज को पूरा करते हुए इन्हें घर जाने की अनुमति दी गयी एवं उन्हें निदेशित किया गया कि चूंकि वे कोरोना प्रभावित क्षेत्र से यहां आये हैं इसलिए एहतियात बरतते हुए वे अगले 14 दिनों तक अपने घरों से बाहर नहीं निकले एवं घर में हीं खुद को आईसोलेट करें, ताकि पूरी तरह से सतर्कता बरती जा सके।

अनुमंडल पदाधिकारी द्वारा जानकारी दी गई कि कुछ-कुछ दिनों के अंतराल पर सिविल सर्जन की अध्यक्षता में जिला स्तरीय मेडिकल टीम द्वारा इन लोगों के घरों पर जाकर इनके स्वास्थ्य का नियमित जांच किया जाय एवं अन्य सभी आवश्यक सावधानियां बरती जाएगी। इसके अलावा उनके द्वारा जिलावासियों से अपील करते हुए कहा गया कि किन्ही को भी इससे डरने की आवश्यकता नहीं है। सबकुछ नियंत्रित स्थिति में है और बाहर से आये इन यात्रियों को उनके घरों में 14 दिनों तक रहने की सलाह दी गयी है एवं उनके स्वास्थ्य की भी नियमित जांच की जाएगी। फ़िलहाल सभी का स्वास्थ्य पूर्णतः ठीक है। साथ हीं उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस के रोकथाम हेतु आप सभी जागरूक होने के साथ-साथ एक दुसरे का सहयोग करते हुए एक जिम्मेवार नागरिक का फर्ज निभाएं। स्वच्छता, सर्तकता के साथ-साथ भीड़-भाड़ वाले ईलाकों में जाने से परहेज करें और दूसरों को भी ऐसा करने के लिए प्रेरित करें। सरकार व जिला प्रशासन पूरी तरह से सर्तक होकर अपना कार्य कर रही हैं।   कोरोना से जुडे़ लक्षण अभी तक देवघर जिला के साथ-साथ पूरे राज्य में किसी भी व्यक्ति में नहीं पायें गए है। ऐसे में हम सभी को पैनिक होने की आवश्यता नहीं है।