सुबह छः से दस बजे तक बाबा का दर्शन कर सकेंगे आम श्रद्धालु, लॉकडाउन के बाद पहली बार गुरुवार को खुला बाबा मंदिर का पट

रमेश सिंह 27th August 2020
बाबा मंदिर प्रांगण में अधिकारियों के साथ देवघर उपायुक्त कमलेश्वर प्रसाद सिंह
बाबा मंदिर प्रांगण में अधिकारियों के साथ देवघर उपायुक्त कमलेश्वर प्रसाद सिंह
  • कोरोना के कारण हुए लॉकडाउन में आम श्रद्धालुओं का दर्शन बंद कर दिया गया था
  • करीब पांच महीने बाद बाबा बैद्यनाथ का पट खुलने से भक्तों में खुशी का माहौल 
  •  मंदिर पट्ट आम श्रद्धालुओं के लिए सुबह 6:00 बजे 10:00 बजे तक खोला जायेगा
  •  सामाजिक दूरी का अनुपालन करते हुए प्रति घंटे 50 की संख्या में श्रद्धालु कर सकेंगे बाबा का दर्शन
  • कोरोना संक्रमण के बढ़ते खतरे को देखते हुए मंदिर में प्रवेश के लिए ऑनलाइन एंट्री पास की सुविधा को प्रभावी रूप से जल्द लागू करने का उपायुक्त ने दिया निर्देश

देवघर(27 अगस्त)। गुरुवार को उपायुक्त सह जिला दंडाधिकारी कमलेश्वर प्रसाद सिंह, पुलिस अधीक्षक पीयूष पांडे एवं बाबा मंदिर प्रभारी सह अनुमंडल पदाधिकारी विशाल सागर की उपस्थिति में बाबा बैद्यनाथ मंदिर का पट श्रद्धालुओं के लिए लिए खोला गया। प्रातः 4.15 बजे बाबा मंदिर का पट खोले जाने के पश्चात सीमित संख्या में तीर्थपुरोहितों के साथ सुबह 4.30 से 5.15 तक विधिवत बाबा बैद्यनाथ की पूजा अर्चना की गई। इसके बाद सीमित संख्या में स्थानीय श्रद्धालुओं के लिए पूर्वाहन 6ः00 बजे से 10ः00 बजे तक मंदिर का पट बाबा के दर्शन हेतु खोला गया था। इसके अलावे सामाजिक दूरी का अनुपालन सुनिश्चित करते हुए प्रति घंटे अधिकतम 50 की संख्या में श्रद्धालुओं को दर्शन हेतु अनुमति दी गयी। इस दौरान दंडाधिकारियों व सुरक्षाकर्मियों द्वारा स्वास्थ्य संबंधी सभी मानकों के साथ-साथ सामाजिक दूरी का अनुपालन कराते श्रद्धालुओं को बाबा बैद्यनाथ का दर्शन कराया गया। मंदिर में दर्शन हेतु आए श्रद्धालुओं की विवरणी के अनुसार 200 श्रद्धालुओं ने बाबा बैद्यनाथ का दर्शन आज किया।

इस दौरान उपायुक्त-सह-जिला दण्डाधिकारी श्री कमलेश्वर प्रसाद सिंह ने मीडिया प्रतिनिधियों से बात करते हुए कहा कि कोरोना संक्रमण के बढ़ते खतरे को देखते हुए मंदिर में प्रवेश के लिए ऑनलाइन एंट्री पास की सुविधा को प्रभावी रूप से जल्द लागू करने निर्देश मंदिर प्रभारी एवं सूचना विज्ञान पदाधिकारी को दिया हैं। इसके अलावे वर्तमान में सभी से आग्रह होगा कि कोविड-19 के खतरे को देखते हुए बुजुर्ग, बीमार, बच्चें, स्वास्थ्य लाभ ले रही महिलाएं अभी मंदिर आने और दर्शन करने से बचें। साथ ही उन्होंने वैश्विक महामारी कोरोना संक्रमण में जिलावासियों के सहयोग के लिए आभार प्रकट करते हुए कहा है कि अब तक जिस प्रकार आप सबो ने जिला प्रशासन का सहयोग किया है को वाकई काबिले तारीफ है और हमें आगे भी पूर्ण भरोसा है कि इनका सहयोग इसी प्रकार मिलता रहेगा।

ज्ञातव्य है कि कोरोना संक्रमण के बढ़ते खतरे को देखते हुए विधि व्यवस्था एवं सुरक्षा व्यवस्था के दृष्टिकोण से मंदिर के आसपास के क्षेत्रों के अलावा मंदिर प्रांगण में दंडाधिकारी, पुलिस बल के जवान एवं मंदिर कर्मचारियों की प्रतिनियुक्ति की गई थी। इसके अलावे मंदिर प्रांगण में प्रवेश के दौरान सामाजिक दूरी का अनुपालन कराते हुए श्रद्धालुओं को थर्मल स्कैनर से स्कैन करने के पश्चात मास्क का उपयोग करवाते हुए एवं सेनेटाइजड करते हुए फुटओवर ब्रिज के माध्यम से बाबा मंदिर में प्रवेश कराया गया। इस मौके पर उपरोक्त के अलावे प्रशिक्षु आई.ए.एस संदीप मीणा, अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी विकास चंद्र श्रीवास्तव एवं संबंधित अधिकारी आदि उपस्थित थे