हजारीबाग : स्वच्छता भारत अभियान का अनोखा तरीका, जिसे जानकार आप भी चौंक जायेंगे

30th December 2017
झील परिसर की सफाई करते पकड़े गये लोग

हजारीबाग के एसडीओ आदित्य रंजन अपने अनोखे अंदाज के लिए जाने जाते हैं। एसडीओ आदित्य रंजन ने शहर के प्रसिद्ध झील की सफाई भी अपने अनोखे अंदाज में करवाई है, जिसे जानकार आपकी भी रोचकता बढ़ जायेगी। आज तड़के सुबह एसडीओ आदित्य रंजन ने झील परिसर के आसपास क्षेत्र का औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान उन्होंने खुलेआम शौच कर गंदगी फैला रहे लगभग 50 लोगों को पकड़ा। उन्हें पकड़कर वे किसी थाने में नहीं ले गये बल्कि स्वच्छता के प्रति उसकी जिम्मेवारी को तय करते हुए उनलोगों से झील परिसर की सफाई करवानी शुरू कर दी।

‘कहते हैं न जो काम तलवार नहीं कर सकती, वह सुई कर दिखाता है।’ कुछ ऐसे ही प्रयोग हजारीबाग में सफल होते दिख रहे हैं। स्वच्छ भारत अभियान में एसडीओ का यह फॉर्मुला राम बाण साबित हो सकता है। इससे पहले एसडीओ ने शहर में गैर कानूनी तरीके से शराब बनाने व ब्रिकी करने वाले को भी इसी अंदाज में पकड़ा था। एसडीओ की कार्यशैली से शहरवासी भी अंचभित है, लोगों के अंदर कानून का भय दिखने लगा है। स्थानीय लोगों का कहना है कि प्रशासन के इस अभियान से शहर में खुले शौच करने वालों की संख्या में कमी आयेगी। एसडीओ के इस कदम से न केवल झील परिसर की गंदगी साफ हुई बल्कि आगे से लोग गंदगी फैलाने के पहले हजार बार सोचेंगे। एसडीओ के इस कदम की चर्चा पूरे सूबे में हो रही है।

निरीक्षण के दौरान हजारीबाग एसडीओ आदित्य रंजन