बाबाधाम के आशीष ने किया अफ्रीका के सबसे ऊंचे किलिमंजारों पर्वत का फतह

20th December 2017
किलिमंजारों पर्वत पर तिरंगा लहराते आशीष

झारखंड की सांस्कृतिक राजधानी बाबाधाम, देवघर के रहने वाले आशीष सावर्ण ने अफ्रीका के सबसे ऊंचे पर्वत किलिमंजारों का फतह किया है। उन्होंने देश का झंडा अफ्रीका के सबसे ऊंचे पर्वत पर लहराया है। आशीष पेशे से कंप्यूटर इंजीनियर हैं और उनका इरादा अब इससे भी ऊंचे पर्वत पर चढ़ना है।

अफ्रीका के देश तंजानिया की सबसे ऊंची चोटी माउंट किलिमंजारो में भारत का झंडा तिरंगा लहराने के बाद आशीष सावर्ण ने पर्वतारोहण के क्षेत्र में बड़ी कामयाबी हासिल की है। बता दें कि किलिमंजारो की ऊंचाई समुद्र तल से चोटी तक 5,895 मीटर (19,300 फीट) है।
किलिमंजारो को फतेह करने के बाद आशीष इससे भी ऊंचे पर्वत की चढ़ाई करना चाहते हैं। अब वे अर्जेंटिना और चिली के बीच स्थित एकोन कागुआ पर्वत पर चढ़ाई करेंगे, जिसकी ऊंचाई 21,000 फीट है। जिसे अगले साल पूरा करने का लक्ष्य है। उसके बाद वे हिमालय पर्वत श्रृंखला की सबसे ऊंची चोटी माउंट एवरेस्ट पर चढ़ने की इच्छा रखते हैं।
देवघर के पोखनाटिल्हा मुहल्ला के रहनेवाले आशीष सावर्ण अमेरिका के ऑरेगन राज्य में कंप्यूटर चिप की कंपनी इंटेल में सिस्टम इंजीनियर हैं। अमेरिका की इस कंपनी में काम करने के दौरान स्वास्थ्य और खेलों को लेकर लोगों की जागरूकता को देखा वे काफी प्रभावित हुए। जिसके बाद उनकी रूचि पर्वतारोहण के क्षेत्र में बढ़ी।